सभी को पता है कि उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी अपराधियों को लेकर कई बार ऐसे बयान दे चुके हैं कि उत्तर प्रदेश में अपराधियों को बख्शा नहीं जाएगा और उन्हें अपराधियों को पकड़ने से ज्यादा एनकाउंटर में दिलचस्पी है. इसी कड़ी में यहां पत्रकारों को भी भय दिखाया जा रहा कि सरकारी बदइंतजामी, भ्रष्ट्राचार, दबंगई, लोगों की समस्याओं को अगर मीडिया में लाया गया तो इसकी कीमत चुकानी होगी मुकदमे के रूप में.