भूलना चाहे तो भी नहीं भूल पाएंगे, यह नजारा आइए जानते हैं, कहां हैं ये खूबसूरती

आइए चलते हैं वहां जहां नीला आसमान एक सुकून देता है अद्भुत सुकून,खूबसूरत सुकू. वहां जाने पर डॉन बॉस्को म्यूजियम को देखना न भूलें. खरीदारी के लिए पुलिस बाजार और बड़ा बाजार की ओर निकल जायें.

शिलांग, मेघालय,  नहीं भूलेगा खासी हिल्स का नजारा

कुदरती खूबसूरती के साथ-साथ पुर्वोत्तर के सांस्कृतिक केंद्र शिलांग की सैर का आनन्द मार्च महीने में भरपूर उठा सकते हैं. रिसर्च करने वालों के लिए मददगार इस शहर का पूर्वी हिस्सा खासी हिल्स से घिरा है. उपर फैला नीला आसमान सैलानियों को एक अद्भुत सुकून देता है.

मार्च में छुट्टियों का प्लान है तो हैवलॉक आइलैंड से बढ़िया कुछ और नहीं हो सकता

कल-कल झरते झरने के किनारे सैलानी घंटों बैठ जाते हैं या आसपास की पगडंडियों पर टहलते हैं. साथ ही, चीड़ के पेड़ों के बीच से गुजरते रास्तों में दूर तक टहलते चले जाएं जो थकावट का आभास तक न होने देते. वहां जाने पर डॉन बॉस्को म्यूजियम को देखना न भूलें. खरीदारी के लिए पुलिस बाजार और बड़ा बाजार की ओर निकल जायें.

अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो आप इसे शेयर क,रें कमेंट करें, लाइक करें और आपके सुझाव का इंतजार रहेगा धन्यवाद.

  • Banaras Post के लेटेस्ट अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें – और हर पोस्ट अपनी टाइमलाइन पर पाने के लिए पेज को FOLLOW करने के साथ ही See First जरूर टैप/क्लिक करें.
  • Twitter के जरिये लेटेस्ट अपडेट के लिए @banaraspost को जरू फॉलो करें.
  • अगर आपको लगता है कि Banaras Post पर दी गई जानकारी आपके किसी रिश्तेदार, मित्र या परिचित के काम आ सकती है तो उनसे जरूर शेयर करें.
  • अपने सुझाव, सलाह या कोई और जानकारी / फीडबैक देने के लिए हमारा CONTACT पेज विजिट करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: