Open Letter

मुझे तो बस भगवान से शिकायत है, जमाने से नहीं! जमाने का क्या?

उसके पति यह सुनकर हैरान थे कि इतनी छोटी सी उम्र में निकिता ने यह निर्णय क्यों लिया?  कहीं इसके साथ कुछ गलत तो नहीं हुआ. मन इस आशंका से कांप उठा.

आखिर शादी के बाद बेटे में ही बदलाव क्यों आता है बेटियों में क्यों नहीं?

शुरु शुरु में तो हस्बैंड इन सब बातों को नकारते हैं लेकिन धीरे-धीरे अपने पत्नियों के प्यार में इतने अंधे हो जाते हैं कि उन्हें भूल जाता है कि यही मां, बाप, भाई, बहन हैं जो उनके लिए जान देते थे और आज भी देते हैं. यह सभी बातें वह बेटा भूल जाता है

बचपन के दिनों की प्यारी दोस्त के नाम एक गुमनाम खत

काफी समय तक तुम्हें देख नही पाया था और मन नही लगता था फिर स्कूल खुला और मेरा स्कूल में पहली बार मन लगने लगा. काफी समय बाद एहसास हुआ कि वह मेरा पहला क्रश था तुमसे. भूगोल के मास्टर साहब प्रश्नों के उत्तर लंबे लंबे लिखवाते और में याद करते आता क्योंकि तुमसे याद नही हो पाते सुर फिर तुमसे याद करने के तरीके मुझसे पूछती बस उसी क्लास में…

%d bloggers like this: